खांसी से निजात पाने के लिए इन प्राकृतिक उपायों को माना जाता है असरदार, जल्द मिल सकती है राहत

How To Get Rid of Cough: बदलते मौसम के साथ खांसी, जुकाम और बुखार जैसी समस्याएं होने लगती हैं। कई बार खांसी इतनी ज्यादा बढ़ जाती है कि दवाई लेने के बावजूद भी ठीक नहीं हो पाती है।

How To Get Rid of Cough: बदलते मौसम के साथ खांसी, जुकाम और बुखार जैसी समस्याएं होने लगती हैं। कई बार खांसी इतनी ज्यादा बढ़ जाती है कि दवाई लेने के बावजूद भी ठीक नहीं हो पाती है। ऐसे में यह माना जाता है कि प्राकृतिक उपायों से खांसी जल्दी ठीक की जा सकती है। प्राकृतिक उपायों की खास बात यह होती है कि इनसे बहुत जल्द आराम मिलता है और इनका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं होता है।

शहद के रस में मिलाएं अदरक – अदरक का एक छोटा टुकड़ा लेकर उसके छिलके हटा दें। इसे साफ पानी से धोकर कद्दूकस करें। अब हाथों से ले जोड़कर इस अदरक का सारा रस निकालें। आप चाहें तो इसे छान भी सकते हैं। अदरक के रस में समानुपात शहद मिलाएं। इसे अच्छे से मिक्स करें। दिन में तीन से चार बार इसका सेवन करें। साथ ही यह ध्यान रखें कि इस रस को पीने के कम-से-कम आधे घंटे बाद तक कुछ न खाएं-पीएं।

सौंफ और मिश्री है फायदेमंद – अगर आप लंबे समय से खांसी की समस्या से जूझ रहे हैं तो 100 ग्राम सौंफ में 50 ग्राम मिश्री मिलाकर हर दो से तीन घंटे में चूसें। ध्यान रखें कि सौफ-मिश्री खाने से फायदा नहीं होता है बल्कि इसे टॉफी की तरह चूसने से लाभ मिलता है। ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर के बाद इसका सेवन जरूर करें। इससे न सिर्फ खांसी रुकेगी बल्कि गले को भी लुब्रिकेंट मिलेगा।

तुलसी, अदरक और लौंग का काढ़ा – तुलसी के पौधे की 10 से 12 पत्तियां लेकर उन्हें साफ पानी से धो लें। साथ में अदरक का एक छोटा टुकड़ा बारीक काटकर रख लें। दो गिलास पानी में तुलसी के पत्ते, अदरक और दो से तीन लौंग मिलाकर 10 से 15 बार उबलने दें। जब एक गिलास पानी रह जाए तो इसे छानकर गर्म ही पीएं। इस काढ़े का दिन में दो बार सेवन करने से खांसी से जल्द राहत मिलती है।

मुलेठी को माना जाता है रामबाण – खांसी के प्राकृतिक उपायों में मुलेठी को बहुत असरदार माना जाता है। मुलेठी के एक बहुत छोटे टुकड़े को टॉफी की तरह चूसें।‌ इससे बहुत जल्द खांसी ठीक हो जाती है। अगर आप मुलेठी का सेवन नहीं कर पा रहे हैं तो आप मुलेठी को मिक्सी में पीसकर इसका पाउडर भी बना सकते हैं। इस पाउडर का काढ़ा बनाया जा सकता है या आप चाहें तो इसे चाय में उबालकर भी पी सकते हैं।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *