डायबिटीज के मरीज इस तरह करें धनिया का इस्तेमाल, ब्लड शुगर लेवल रहता है कंट्रोल

धनिया के पत्ते और बीजों में एंटी-ऑक्सीडेंट्स की अच्छी-खासी मात्रा होती है। यह खून में इंसुलिन की मात्रा को कंट्रोल करता है।

अनियमित जीवन-शैली और खराब खानपान के कारण आज दुनियाभर में करोड़ों लोग डायबिटीज की बीमारी से ग्रसित हैं। एक रिपोर्ट की मानें तो भारत में साल 2030 तक मधुमेह से ग्रसित लोगों की संख्या बढ़कर 9.8 करोड़ हो जाएगी। डायबिटीज के कारण शरीर में ब्लड शुगर का स्तर अनियंत्रित रूप से घटता-बढ़ता रहता है। ऐसे में कई तरह की समस्याएं होने लगती हैं। बता दें, हम जो भी खाते हैं उनके पचने से शुगर निकलता है।

जब सेल्स ग्लूकोज को एब्जॉर्ब नहीं कर पाते तो वह खून में मिल जाते हैं। इसके कारण बॉडी में शुगर लेवल ज्यादा हो जाता है। ऐसे में डायबिटीज के मरीजों को अपने खानपान का ध्यान रखने की अधिक आवश्यकता होती है। दवाइयों के साथ-साथ जीवन-शैली में बदलाव करके भी शुगर लेवल को कंट्रोल किया जा सकता है। ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में धनिया बेहद ही कारगर है।

धनिया के पत्ते और बीजों में एंटी-ऑक्सीडेंट्स की अच्छी-खासी मात्रा होती है। यह खून में इंसुलिन की मात्रा को कंट्रोल करता है। धनिये में मौजूद इथेनॉल ब्लड शुगर लेवल को काबू करने में मदद करते हैं।

इस तरह करें धनिया के पत्ते का इस्तेमाल: सबसे पहले पत्तों को अच्छी-तरह से धो लें फिर इसे पानी में रातभर भिगोकर रख दें। अगले दिन पानी को छानकर सुबह खाली पेट इसका सेवन करें। ऐसा करने से बॉडी में शुगर की मात्रा नियंत्रित रहती है।

धनिया के बीज: 10 ग्राम साबुत धनिये को एक लीटर पानी में भिगोकर रख दें। सुबह उठकर खाली पेट इसका सेवन करें। इसका नियमित तौर पर सेवन करने से आपको कुछ ही दिनों में आराम लगने लगेगा।

खट्टे फल: खट्टे फलों में मौजूद फाइबर बॉडी में पाचन की प्रक्रिया को धीमा करते हैं, जिससे ब्लड में शुगर जल्दी नहीं घुलती। इन फलों में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स और पॉलीफेनॉल शरीर में ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस और इंफ्लेमेशन को कम करते हैं। ऐसे में डायबिटीज के मरीजों के लिए खट्टे फलों का सेवन बेहद ही फायदेमंद होता है।

सौंफ: मधुमेह के रोगियों के लिए सौंफ किसी रामबाण से कम नहीं होती। डायबिटीज मरीजों को खाना खाने के बाद सौंफ का जरूर सेवन करना चाहिए। आप चाहें तो इसका पानी और चाय में सौंफ भी डालकर पी सकते हैं।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *