Ashoke Pandit on Journalist Arfa Khanum: You read Modi Chalisa from morning to evening, still no freedom of speech? Filmmaker furious at journalist

अशोक पंडित का एक पोस्ट सामने आया जिसमें वह तालिबान और भारत की तुलना कर रहीं एक पत्रकार को जवाब देते दिखे।

बॉलीवुड फिल्ममेकर अशोक पंडित सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं और तमाम समसामयिक मुद्दों पर खुलकर अपनी राय रखने के लिए जाने जाते हैं। ताजा मामला पत्रकार आरफा खानम शेरवानी के एक ट्वीट से जुड़ा है, जिसमें उन्होंने मोदी सरकार को घेरा। इसपर अशोक पंडित ने तीखा पलटवार किया।

दरअसल, आरफा खानम शेरवानी ने एक अन्य पत्रकार के एक पोस्ट को री-ट्वीट कर तंज भरे अंदाज में लिखा था- ‘2014 : ‘हमने मोदी जी को विकास के लिए वोट दिया है, वो भारत को विश्व गुरू बनायेंगे’, 2021: ‘महंगाई, बेरोज़गारी, पेट्रोल के दाम बढ़ रहे हैं तो क्या हुआ, हम तालिबान से बेहतर हैं, भारत में बोलने की आज़ादी है, ज़िंदा रहने की आज़ादी है।’

उनकी इसी पोस्ट पर अशोक पंडित बिफर पड़े और तीखा जवाब दिया। पंडित ने लिखा, ‘मुझे नहीं पता था की महंगाई की वजह से आप सड़कों पर कटोरा लेकर भीख मांग रही हो! सुबह से शाम तक मोदी चालीसा पढ़ती रहती हो और कहती हो कि बोलने की आज़ादी नहीं है! चीन ने पैसे भेजने बंद कर दिए हैं क्या?’

अशोक पंडित के इस ट्वीट पर तमाम यूजर्स के रिएक्शन भी सामने आने लगे। जेपी शर्मा नाम के यूजर ने लिखा- ‘हर उस आदमी को अपना मजहब बदल लेना चाहिए जिसका मजहब मानवता नहीं सिखाता। 56 देश उन बेचारे लुटे-पुटे लोगों को जगह नहीं दे रहे जो उन्हींं के मजहब के हैं।’

प्रदीप नाम के यूजर ने कहा- ‘जो कल तक कहते थे कि “हिन्दुस्तान” में डर लगता है, वो अब सलाह दे रहे हैं कि “हिन्दुस्तान” में “अफ़ग़ानियों” को शरण दी जानी चाहिए।’ नैनेश भट्ट ने लिखा- ‘हमने तो ऐतिहासिक फैसले लेने के लिए वोट दिया, और वो कर भी रहे हैं, इसलिए 2024 में भी देंगे!’

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *